गुरुजी ने अपने सरल वास्तु सिद्धांतों के द्वारा वास्तु शास्त्र व उसके प्रभावी तरह से उपयोग करने को समझने का प्रयास किया है। सरल वास्तु का सीधा सम्बन्ध प्रकृति की कॉस्मिक उर्जा से है। इसकी मदद से आप अपने घर या कार्यस्थल पर बिना किसी संरचनात्मक बदलाव या बिना तोड़ फोड़ किए सकारात्मक परिवर्तन ला सकते हैं। इसके लिए आपको कॉस्मिक ऊर्जा से जुड़ने, संतुलित करने व ऊर्जा के द्वारा चक्रों को चैनलाइज़ करने की ज़रूरत है। यह कार्य हम दिशा, संरचना व चक्रों के द्वारा कर सकते हैं।

सरल वास्तु सिद्धांत के अनुसार आप घर के लिए वास्तु  को आसानी से बिना किसी टूट-फूट या नवीनीकरण के अपना सकते हैं। यह आपके घर की बनावट को नहीं बिगाड़ता व घर में नकारात्मक ऊर्जा को खत्म कर के सकारात्मक ऊर्जा लाता है|

क्या आप जानते हैं?

सरल वास्तु सिद्धांत अपनाने के बाद आपके जीवन में इसका असर 7 से 180 दिनों के भीतर आने लगता है जो आपके जीवन में सकारात्मक प्रभाव लाता है और आपके जीवन में होने वाली समस्याओं को दूर करता है।

जीवन में आने वाली अनेक समस्याओं जैसे कि स्वास्थ्य, धन, शिक्षा, विवाह, रिश्ते, नौकरी या करियर, व्यवसाय आदि समस्याओं को सरल वास्तु के सिद्धांतों के द्वारा हल किया जाता है जो सुखी जीवन जीने में सहायता कर सकता है।

निम्नलिखित सरल वास्तु उपाय आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ाते हैं।

उपरोक्त सभी उपायों का पालन करके, आप घर पर एक सकारात्मक माहौल बना सकते हैं।

इन सरल वास्तु के सिद्धांतों को अपनाकर कोई भी व्यक्ति अपने जीवन में इसके सही और सकारात्मक प्रभावों का असर 7 से 180 दिनों में अनुभव कर सकते हैं जो जीवनपर्यंत आपको सुखी रख सकता हैं। एक बार अपनाएं, जीवनभर लाभ पाएं।.

गुरुजी सरल वास्तु सिद्धांतों के अनुसार, किसी व्यक्ति और परिवारों द्वारा सामना की जाने वाली बाधाएं या परेशानियां उनके भीतर और आस-पास कॉस्मिक ऊर्जा के असंतुलन के कारण होती हैं। इसे संतुलित कर के आप इन समस्याओं से मुक्ति पा सकते हैं।.

अपने घर और जीवन में कॉस्मिक उर्जा को संतुलित करने से सकारात्मक ऊर्जा में परिवर्तन आता है जो की सभी समस्याओं को दूर कर सकता हैं।

  • नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने के लिए करें नमक का उपयोग:
    नकारात्मक ऊर्जा को कम करने में नमक बहुत अच्छा विकल्प माना जाता है। अगर आपके घर में कोई व्यक्ति उदास, व्यथित और परेशान रहता है तो एक नमक मुट्ठी नमक उस पर 3 से 4 बार गोलाकार रूप में घुमाने के बाद उसे पानी में डाल दें या आग में जला दें। इससे व्यक्ति की मानसिक स्थिति में सुधार के साथ सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ावा मिलता है। इसी तरह घर के शौचालय में नमक रखने से घर में आने वाली नकारात्मक ऊर्जा को रोका जा सकता है। ये नमक हर कुछ दिनों में बदलते रहना चाहिए।
  • अपने घर को साफ, हवादार और व्यवस्थित रखें:
    यदि आप अपने घर में सही उर्जा का संचय करना चाह रहें है तो सबसे पहले अपने घर के वातावरण को साफ और शुद्ध रखें और घर में रखने वाली वस्तुओ को व्यवस्थित रूप से रखें। इसका सीधा प्रभाव घर में रहने वाले लोगों के व्यवहार पर पड़ता है। व्यवस्थित घर में लोग खुशी और शान्ति का अनुभव करते हैं| घर में पड़ी हुई बेकार चींजो को हटा दें। घर से पुरानी रद्दी और पुरानी वस्तुओं को निकाल दे। इससे घर में पर्याप्त स्थान होने से कॉस्मिक उर्जा का प्रवाह बढ़ता और घर में सकारात्मक उर्जा आती है। घर के मुख्यद्वार पर विशेष ध्यान देना चाहिए। मुख्य द्वार के आसपास अनचाही वस्तुओ, धूल व गन्दगी को साफ करें।
    घर में अच्छी और सकारात्मक ऊर्जा के लिए अच्छे और सही चित्रों और वॉल हैंगिंग का उपयोग करें। इनके उपयोग से घर में शांतिपूर्ण और सुखद वातावरण बनता है। घर में ऐसे चित्र लगाएं जो सकारात्मकता को बढ़ाएंजैसे की बहता हुए पानी, दौड़ते हुए घोड़े, जुड़वा पक्षी आदि।
  • उपयुक्त चित्रों / वॉल-हैंगिंग का उपयोग करें:
    घर में अच्छी और सकारात्मक ऊर्जा के लिए अच्छे और सही चित्रों और वॉल हैंगिंग का उपयोग करें। इनके उपयोग से घर में शांतिपूर्ण और सुखद वातावरण बनता है। घर में ऐसे चित्र लगाएं जो सकारात्मकता को बढ़ाएंजैसे की बहता हुए पानी, दौड़ते हुए घोड़े, जुड़वा पक्षी आदि।
  • हमेशा अपने अनुकूल दिशाओं का प्रयोग करें:
    अपने जन्म की तारीख के आधार पर अनुकूल दिशाओं का उपयोग करें। सरल वास्तु के अनुसार स्वस्थ और शांतिपूर्ण जीवन के लिए अपने घर का निर्माण करते समय जन्म तारीख को आधार रखें। सही और अनुकूल दिशाओं के प्रभाव से आपकी ज़िन्दगी खुशहाल और स्वस्थ बनी रहती हैं।
  • अपने जूते घर के बाहर निकाले: 
    अपने घर के वातावरण की शुद्धता और सकारात्मकता बनाए रखने के लिए, घर से बाहर अपने जूते निकालने की सलाह हमेशा दी जाती है। यह आपके घर के वातावरण की पवित्रता को बिगाड़ता है, गंदगी, धूल, कीचड़ और नकारात्मक ऊर्जा लाता है। जूतों को हमेशा घर के बाहर ही रखने की सलाह दी जाती है। सरल वास्तु के अनुसार ये आपके घर के वातावरण की पवित्रता को खराब करता है। चूंकि जूते बाहर से अपनें साथ गन्दगी, धूल, कीचड़ और नकारात्मक ऊर्जा लाते हैं इसलिए घर की पवित्रता और सकारात्मकता बनाएं रखने के लिए हमेशा जूते घर से बाहर ही रखें।
  • अपने घर में घंटियों या संगीत का उपयोग करें। जैसे कि पूजा घर की घंटी ,घर की द्वार घंटी या घर के भीतर मधुर ध्वनि के उपकरण। इनके निरंतर उपयोग से घर से नकारात्मक ऊर्जा बाहर जाती है और घर में सुख शांति बनी रहती हैं।

गुरुजी के सरल वास्तु सिद्धांत:

  • दिशाओं के साथ कॉस्मिक ऊर्जा से जुड़ें।
  • संरचना के साथ कॉस्मिक ऊर्जा को संतुलित करें।
  • चक्रों के साथ कॉस्मिक ऊर्जा को चैनलाइज़ करें।

गुरुजी के अनुसार, किसी व्यक्ति के लिए सही दिशा केवल उसकी जन्म तिथि पर आधारित होती है।

Enter your details to get

FREE Vastu Prediction

* We will call you within 24 hours to confirm time for FREE Prediction

5 Comments
  1. veerendar singh

    आपका सी जी गुर्प किसी भी समस्या का समाधान नही कर सकता हैं

    • saral vaastu

      Mr.Singh,

      Please share your registered contact number or booking ID number so that our concern team can get back to you as soon as possible

  2. saral vaastu

    Dear Singh,

    Saral Vaastu mai ruchi dikhane ke liye dhanyawad. Aap apne contact details hamare mail ID support@saralvaastu.com par share kijiye aur hamari concern team apko is vishay mai sahayata karegi.

    Adhik jankari aap hume 9321333022 (8 am to 8 pm) number par sampark kar sakte hai.

  3. I am willing to construction of my new house plz adviced How I can made a house as par vastu

    • saral vaastu

      Dear Ganga,

      We appreciate your interest to acquaint yourself with Saral Vaastu concept.Please share your contact details with us so that our concern team can get back to you and help you with the same.You can mail us your details on our mail ID support@saralvaastu.com.

      For any queries, please contact on 9321333022 (8 am to 8 pm). You can download your personal vaastu assistant, Saral Vaastu mobile app, from google play store https://goo.gl/pYZ9WG.

Leave Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

clear formSubmit