कार्यालय, पाठशालाएँ, महाविद्यालय, अस्पताल, कंपनियों तथा हॉटेल्स जैसे उद्योगों के लिए सरल वास्तु विशेषज्ञ व्यवसाय के लिए वास्तु की सलाह प्रदान करते हैं ।

बुनियादी पूर्वावश्यकताओं की संपूर्ण उपलब्धता के साथ उद्योग के लिए भूमि का चयन जैसे जमीन, असीमित और सस्ते शक्ति के स्रोत, सड़क और रेल नेटवर्क के माध्यम से कोई भी जगह पहुँचने की क्षमता, कच्चा माल और मानवी संसाधनों की उपलब्धता होना जैसे कुछ महत्त्वपूर्ण चीजों का ध्यान भावी उद्योगपतियोंने रखना चाहिए जो अपने उद्योग के विकास के लिए अच्छे लाभांश के साथ नए व्यवहार्य परियोजनाओं की स्थापना करना चाहते हैं ।

अधिक पढ़ें…

हॉटेल्स के लिए वास्तु

वास्तु शास्र के सिध्दांत हॉटेल्स व रेस्टॉरंट्स के लिए बड़ी मात्रा में मदद कर सकते हैं यह सुनिश्चित करके कि हॉटेल में आनेवाले पर्यटक तथा मेहमानोंने बार बार हॉटेल तथा रेस्टॉरंट में भेंट देनी चाहिए जिससे यह व्यवसाय एक फलते-फुलते व्यवसाय में परिवर्तित हो जाए ।

  • स्वागत कक्ष और रेस्टॉरंट
  • सम्मेलन के लिए हॉल का निर्माण
  • हॉटेल के कमरों में बिस्तर ( बेड्स )

कंपनियों के लिए वास्तु

व्यापार के लिए वास्तु में बहुत से घटकों का विचार किया जाता है जैसे कार्यालय के लिए उचित जगह ( स्थान ), कार्यालय के बाह्य भाग का उतार, आकार आदी., स्वागत कक्ष और कार्यालय के विभिन्न विभागों की स्थिति व उनकी दिशा, विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों तथा इतर अनेक की स्थिति.

  • कार्य करते समय सामना करने की दिशा
  • स्वागत कक्ष
  • मुख्य द्वार का भाग
  • मुलाकात के कमरे का भाग

अस्पताल के लिए वास्तु

मरीज़ बहुत जल्दी तथा प्रभावी रूप से ठीक हो जाएंगे । जैसे की हमनें बहुत से अस्पतालों में देखा है कि व्यवसाय के लिए वास्तु में अस्पतालों और चिकित्सालयों का समावेश है । इसमें से कई सारे कड़ी स्पर्धा का मुकाबला कर रहें हैं । आजकल डॉक्टर्स 16 से 18 घंटे अस्पतालों में काम करते हैं लेकिन बदले में अधिकांश डॉक्टरों को इतना नहीं मिलता जितना मिलने की वो उम्मीद करते हैं ।

अस्पताल के विकास में प्रभावित होनेवाले घटक :

  • चिकित्सा उपकरणों का कक्ष
  • स्वागत कक्षr
  • चिकित्सा उपकरणों के लिए भंडार कक्ष
  • अति दक्षता विभाग ( आय. सी. यू. ) / चिकित्सा प्रभाग ( वार्ड )

शैक्षणिक संस्थानों के लिए वास्तु

  • क्लास रूम की दिशा
  • शौचालय समूहों की दिशा
  • प्रशासन समूहों की दिशा
  • खेल के मैदान की दिशा