sv-book-hindi

प्रतिदिन 20 भाग्यशाली विजेताओं को ई-पुस्तिका मुफ्त दी जाएगी।

पुस्तिका के बारे में –

इस पुस्तिका के माध्यम से पहले से ही पीड़ित आम लोगों के लिए राहत मिल जाती है जो स्वयंघोषित वास्तु विद्वानोंद्वारा, दुर्भाग्यवश से कभी भी प्राप्त नहीं हुई ऐसी अति प्रतिक्षित व अपेक्षित समृध्दी तथा जीवन में अधिकतर धन मिलने हेतू वास्तु के सुधार तथा पुर्ननिर्माण कार्यान्वयन के नाम पर दिए गए सुझावों की वजह से अनुमान से ज्यादा खर्च करने से बहुत ज्यादा पीड़ित हो चुके हैं।

गुरूजी का लक्ष्य है कि ` प्रताड़ित या सताए हुए व्यक्तियों ‘ के पास पहुंचे ताकि इस तरह से उनको सरल वास्तु मानदंडो की तरफ किया जा सकता है।

`न कोई संरचनात्मक बदल, न कोई प्रमुख परिवर्तन और न कोई नवनिर्माण’ यह हमारा बेजोड विक्रय का केंद्रबिंदू ( U.S.P. ) है। मैं अपने प्रयत्नों को तब तक सार्थक समझूँगा अगर मैं लोगों के उदास जीवन में मामूली परिवर्तन करने में सक्षम बनूँ।

1. वास्तु शास्र – एक परिचय
2. सरल वास्तु का परिचय
3. सरल वास्तु का शास्रोक्त विश्लेषण
4. सरल वास्तु का लोगों की साधारण हित के लिए कैसे उपयोग किया जा सकता है ?
5. मुख्य द्वार का ईशान्य ( उत्तर पूर्व ) दिशा की ओर सामना होना चाहिए इस बात की वैज्ञानिक स्पष्टता
6. व्यक्ति की जन्मतिथि व मृत्यु के चक्र का वास्तु से संबंध
7. सिर्फ अपने स्वामित्व की संपत्ति पर वास्तु का प्रयोग
8. पूजा तथा उपासना करने कमरा ईशान्य ( उत्तर पूर्व ) दिशा में ही हो।
9. मुख्य द्वार के स्थान की दिशा का महत्व
10. शौचालय तथा स्नानगृह का ईशान्य ( उत्तर पूर्व ) दिशा में होने के असर।
11. खाने के कमरे ( रसोई ) के स्थित होने की सही दिशा चुनना।
12. ईशान्य ( उत्तर पूर्व ) दिशा का शास्रीय विश्लेषण
13. दक्षिण पश्चिम ( नैऋत्य ) दिशा – क्या यह परिवार के प्रमुख / गृहस्थ के पक्ष में है ?
14. बोर वेल का ईशान्य ( उत्तर पूर्व ) दिशा में ना होना – इसके परिणाम
15. मुख्य द्वार ईशान्य ( उत्तर पूर्व ) दिशा में होना – इसका महत्व
16. घर या प्रतिष्ठान का आय-जंक्शन और टी-जंक्शन का सामना करने से होनेवाले प्रभाव
17. मंदिर अथवा धार्मिक स्थल के आसपास रहने से – जीवन शांतिपूर्ण हो सकता है ?
18. सीधे रेखा में दरवाजे होने से पड़नेवाले प्रभाव
19. विशेष रूप से महिलाओं पर भार डालना – इसे कैसे टाला जा सकता है ?
20. छात्रों के लिए सरल वास्तु – उज्ज्वल भविष्य तथा कारकीर्द के लिए मदद।
21. महिला के विवाहित जीवन की शुरूआत – उसे सुनहरा बनाने में सरल वास्तु कैसे मदद कर सकता है ?
22. सरल वास्तु – अधिक सुझाव
23. इमारत का आकार – सरल वास्तु में उसका महत्त्व
24. भारतीय ` वास्तु ‘ – गहरा विश्लेषण
25. बाहरी पर्यावरणीय दोषों का घर / कार्यस्थल पर और उसके आसपास पर पड़नेवाला प्रभाव
26. ` दीपावली पर्व ‘ को उत्सव सरल वास्तु के अनुसार मनाया जाए।
27. सरल वास्तु नए घर / फ्लैट / आवास के लिए समाधान प्रदान करता है – घर की परियोजना बनाता है।
28. सरल वास्तु – सरल वास्तु से लाभ हुए व्यक्ति और संगठन
29. सरल वास्तु साहित्य – जानकारी