वास्तु का अस्पतालों पर कैसे असर पडेगा ?

जल्दी से ठीक हो जाओ – यह अस्पतालों, नर्सिंग होम्स, बीमार व अपंगों के लिए आश्रम से संलग्न हैं, साथ ही स्वास्थ्य पर्यटन जैसे तेजी से बढ़ते क्षेत्र आजकल विकास के कारक हैं तथा भारतीय सरकार के लिए अतिआवश्यक विदेशी राजस्व उपलब्ध करनेवाले स्रोत हैं जिनका आज के पुनरूत्थानशील भारत की प्रगति का वास्तव है ।

अस्पतालों के लिए वास्तु के अनुसार अस्पतालों की रचना की जानी चाहिए, जिससे रुग्णों की प्रकृति मैं जल्द से जल्द सुधार आये और अस्पताल का वातावरण भी शांत और प्रसन्न रहे।

अपना व्यक्तिगत वास्तु नकाशा प्राप्त कीजिये और यह वास्तु नकाशा आपके कार्यस्थल तथा घर से सुसंगत है या नही इसका विश्लेषण कीजिये ।