How-to-achieve-your-New-Year-Resolution-with-Saral-Vaastu-Hindi

“ लंबे समय से पल के बीत जाने के बाद नए साल के अच्छे संकल्पो को अंजाम देने के लिए व्यक्तित्व हमारी शक्ति है । ”

जैसे ही ३१ दिसंबर २०१६ की रात को घड़ी में १२ बजेंगे हम साल २०१७ का जोश और उत्साह के साथ स्वागत करेंगे । हर नया साल, हर नए दिन की तरह एक आशा है और हर किसी में जो सफल और सुखी होना चाहता है उनके लिए एक चुनौती है । हर पहली जनवरी को अपने दोस्तों और परिवार को शुभेच्छा देना एक आम बात होती है । नए साल के संकल्प स्थापित करना यह किसी भी नए साल की और एक आम बात है । अपनी बुरी आदतों को बदलने के लिए, लक्ष्य निर्धारित करने के लिए और पुनश्च पहले से शुरूआत करने के लिए बहुत से लोग नए साल को एक अवसर के रूप में देखते हैं । सभी प्रमुख सर्वेक्षणों के अनुसार लोगों के पाँच प्रमुख नए साल के संकल्पों को नीचे सूचीबध्द किया है –

  • अपने स्वास्थ्य तथा फिटनेस पर ध्यान केंद्रित करते हैं। (जिसमें निकोटीन उत्पादों तथा शराब को छोड़ना, जिम में शामिल होना, कसरत करना, वजन घटाना, ध्यान धारणा करना आदि शामिल हैं
  • नई नौकरी की खोज करना या अपने काम में तथा पढ़ाई में बेहतर होना (जैसे कि परीक्षा में पास होना या व्यावसायिक प्रमाणपत्र को प्राप्त करना अथवा काम में पदोन्नति मिलना।)
  • परिवार और दोस्तों के साथ बेहतर संबंध बनाना।
  • कम से कम अपनी एक रूचि (दिल पसंद कार्य) को खोज निकालना।

हालांकि, अन्य सर्वेक्षण के अनुसार ७० प्रतिशत संकल्प जनवरी महिने के अंत तक टूट जाते हैं और जीवन हमेशा जिस रूप में था वहीं वापस चला जाता है । मुख्य रूप से ध्यान और इच्छा शक्ति की कमी के कारण ऐसा होता है । यह पहला कारण है कि नए संकल्प के रूप में वास्तु हमें आसानी से प्राप्त होता है । वास्तु शास्र के सिध्दांतों को लागू करने से लोग अपने आप में आत्मविश्वास की भावना और मक्सद को विकसित करने में सक्षम हो जाते हैं । अविरत प्रयासों से लोगों के मन में बसी हुई सकारात्मकता निरूत्साहित तथा प्रेरणाहीन हुए बिना चुनौतियों का सामना करने के लिए मार्गदर्शन करते हैं । हर कोई जानता है कि जीवन हमेशा ही अच्छा नहीं होता, निश्चित रूप से जीवन में उतार चढ़ाव होते हैं । लेकिन जब आप सकारात्मक ऊर्जा से घिरे रहते हैं तब यही ऊर्जा आपको कठिन समय में मार्ग दिखाता है । इसलिए २०१७ में वास्तु का कार्यान्वयन करने की जरूरत है ।

वास्तु का मुख्य रूप से सरल वास्तु के सिध्दांतो का अनुकरण करने का दूसरा कारण यह है कि, यह हमारे शरीर के सभी ७ मुख्य चक्रों को खोलता है । प्राचीन भारतीय विज्ञान के अनुसार, जब मानवी शरीर के सभी चक्र संतुलित तथा खुले होते हैं तब व्यक्ति का शारिरीक, मानसिक तथा अध्यात्मिक सर्वोत्तम स्वास्थ्य होता है । सरल वास्तु दिशाओँ के विज्ञान में केंद्रित है और इन चक्रों को सक्रिय तथा पुर्नजीवित करता है । चक्र जब सक्रिय होते हैं तब लक्ष्य से विचलित हुए बिना आगे बढ़ने के लिए व्यक्ति को जीवन की चुनौतियों का सामना करने हेतु ऊर्जा तथा प्रभामंडल प्राप्त होता है । सरल वास्तु का मानना है कि बदलाव घर से ही शुरू होते हैं और उनको सबसे आसान सुलभ तरीकों से लागू करना चाहिए । २०१७ में शांतिपूर्ण तथा सफल जीवन व्यतीत करने के लिए घर में पालन करने योग्य नीचे कुछ २०१७ में सफलता लाने के लिए वास्तु टिप्स दिए हैं –

  • हमेशा घर को साफ रखें और खिडकीयों तथा टेबल पर जमी हुई धूल को साफ करें। घर को अव्यवस्था मुक्त रखें।
  • प्रमुख मुख्य द्वार को साफ और अव्यवस्था मुक्त रखें। यह वो क्षेत्र है जहाँ से सबसे अधिक सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है।
  • नींद के समय आपका सिर आपकी २री अनुकूल दिशा में रखें। इससे सात चक्र सक्रिय हो जाते हैं और स्वास्थ्य से संबंधित किसी भी मुद्दों में सुधार करने में मदद करते हैं।
  • आपके जीवन के सभी पहलुओं में सकारात्मक परिणामों को आकर्षित करने के लिए आपके अनुकूल रंगों के कपडों को परिधान करें।
  • ७ चक्रों को सक्रिय करने के लिए और कार्यकुशलता में सुधार लाने के लिए कार्यालय में आपकी १ली अनुकूल दिशा का सामना करें।

इन सिध्दांतों को आप अपने नए साल के संकल्पों को पूरा करने के लिए अनुरूप बना सकते हैं। २०१७ में वास्तु संबंधी जानने के लिए सरल वास्तु के विशेषज्ञों से संपर्क करें।

“ जिस प्रकार से किताब में नया अध्याय लिखने के इंतजार में होता है उसी प्रकार नए साल में नया अध्याय लिखने की प्रतिक्षा में है। हम अपने लक्ष्यों को निर्धारित करने की कहानी लिख सकते हैं । ”

२०१७ में आपके लक्ष्यों को पूरा करने के लिए भगवान आपको शक्ति तथा धैर्य प्रदान करें । आपका नया वर्ष अत्युत्तम व मंगलमय हो।

Leave Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

clear formSubmit