सेवानिवृत्ति क्या है ? अगर आप सरकारी नौकरी में हो या अशासकीय नौकरी में हो अथवा आपका खुद का व्यवसाय होनेपर भी सेवानिवृत्ति एक वास्तव है, एक सच है । लोग इसे कैसे संभालते हैं इसमें विभिन्नता है ।

अगर सेवानिवृत्ति अनियोजित हो तो यह व्यक्ति को तनाव देता है । जबकि जिन्होने पहले से ही सेवानिवृत्ति का नियोजन किया है वे लोग उसके लिए तरसते हैं । जिन्होंने सेवानिवृत्ति का सालों पहले से नियोजन किया है वे लोग इसके इंतजार में रहते हैं जैसे कि खर्चिली यात्राएँ, क्लबों में शामिल होना, अपने शौक को पूरा करना जैसी चीजें जिनको उन्हे अपनी नौकरी के कारण तथा अपने व्यवसाय की शुरूआत करने के कारण संयम में रखना पड़ा था ।

हालांकि, सबसे बड़ा सवाल सबसे पुछना है कि सेवानिवृत्ति के पहले शुरू हो रहे इस नए चरण के लिए क्या आप आर्थिक तथा भावनात्मक रूप से तैयार हैं ?

क्या आप आर्थिक रूप से इस सेवानिवृत्ति के लिए तैयार है ?

1. जब कोई व्यक्ति सेवानिवृत्त होता है तब उनके निर्वाह के मापदंड बदल जाते हैं । कम उम्र से ही पैसों को बचाके रखना और सेवानिवृत्ति के लिए विशिष्ट हिस्सा निवेश करना यह एक अच्छा तरीका है । अपनी बचत राशि में वृध्दि करने का प्रयास करो या हर महिने तथा वर्ष में दो बार पैसों का निवेश करो । कोई भी परिस्थिती में आपके सेवानिवृत्ति के लक्ष्य पर अटल रहो ।
2. सेवानिवृत्ति खर्चिला है । आपके खर्चे कम भी हो सकते हैं लेकिन आपके पास उस नुकसान की भरपाई करने के लिए अर्थप्राप्ति नहीं है । संशोधन से पता चला है कि व्यक्ति को सेवानिवृत्ति के पूर्व 70 से 90 प्रतिशत आय की जीवित रहने के लिए निश्चित रूप से आवश्यकता होती है ।
3. पैसे बचाने के लिए वास्तविक और पर्यायी ऐसे दोनों तरीकों का प्रयोग करें । वास्तविक पर्याय में पेन्शन योजना और स्वास्थ्य बीमा योजनाओं में निवेश करना शामिल है । वैकल्पिक तरीकों में वास्तु शास्र शामिल होता है जो आपके धन की हानि होने से बचाने में मदद कर सकता है । उदाहरण के लिए यदि आपके घर के पाईप और नल में रिसाव है तो वह धन का नुकसान होने का प्रतीक है । इन रिसावों पर तुरंत नियंत्रण करने के लिए सुनिश्चित करें ।
4. आपके कंपनी के मालिक को सेवानिवृत्ति योजना शुरू करने के लिए निवेदन कीजिए । ऐसे कई सेवानिवृत्ति बचत योजनाओं के विकल्प हैं जो नियोक्ता (employer) अपने कर्मचारियों के लिए शुरू कर सकते हैं ।
5. अपने करों की व्यवस्था होशियारी से करें । सेवानिवृत्ति के बाद लोगों को उनके भविष्य निधी और अन्य म्यूच्युअल फंडो को तोड़कर जो एक राशि मिलती है उस पर भी कर लग सकता है । सलाह के लिए किसी व्यावसायिक से संपर्क करें ।

क्या आप भावनात्मक रूप से सेवानिवृत्ति के लिए तैयार हैं ?

1. आप अपने पूरे खाली समय में क्या करनेवाले हैं ? अगर आप विविध स्थानों की यात्रा करनेवाले हैं अथवा आपके शौक का अनुसरण करने की आपकी योजना है, फिर भी अंत में आपके पास बहुत खाली समय बचता है । इसकी उचित योजना बनाईये । भविष्य की स्पष्ट कल्पना के लिए तथा फिक्र से बचने हेतु ध्यानधारणा की शुरूआत करने की सलाह दी जा सकती है ।
2. व्यक्ति की आयु बढ़ने की वजह से व्यक्ति का स्वास्थ्य ऐसा एक क्षेत्र है जो चिंता का विषय है । आपका घर सकारात्मक ऊर्जा से भरने का प्रयास करें । स्वास्थ्य के लिए वास्तु का अगर सही तरीके से पालन किया जाए तो बहुत प्रभावी है । उदाहरण के लिए सैंधव नमक को घर में रखने से परिवार के सदस्यों की मनःस्थिति में उन्नति होती है । घर के मुख्य द्वार को अव्यवस्था से मुक्त रखने से सकारात्मकता को आमंत्रित करते हैं जो स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है ।
3. घर को स्वच्छ रखें । अच्छी ऊर्जा के प्रवाह के लिए पुराने फर्निचर, टूटे हुए शीशे तथा इस्तेमाल न किये हुए विद्युत उपकरणों को निकाल दें ।
4. हमेशा सकारात्मक रहें । बाहर जाएँ और कुछ कार्य करें । लंबी अवधि के लिए घर में बैठने से अंत में सुस्ती आ जाती है ।
5. आप जो चीजें हमेशा करने से बचते थे या हमेशा से उन्हे करना चाहते थे, उन चीजों की शुरूआत करने का प्रयास करें ।

आपका सेवानिवृत्त जीवन अच्छा हो ।

Leave Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

clear formSubmit